15 October

गर्भावस्था के दौरान सपने - यह अजीब क्यों है?

भ्रम और विचित्र सपने किसी में भी थोड़ा डर पैदा कर सकते हैं। गर्भावस्था आपको अधिक गहन और अजीब सपने लाती है।

 

अध्ययनों से पता चला है कि गर्भवती महिलाओं को गर्भवती न होनेवाले महिलाओं की तुलना में गंभीर और परेशान सपने का अनुभव होता है। गर्भावस्था के आखिरी तिमाही में महिलाओं को पिछले चरणों की तुलना में अधिक भ्रमित सपने का अनुभव होता है।

 

गर्भावस्था और इन सपनों के बीच संबंध क्या है?


गर्भावस्था और इस तरह के सपने से कोई संबंध नहीं है, लेकिन जब आप गर्भवती हो जाते हैं, तो ये अजीब सपनों के कारण आपके अपूर्ण या अर्ध-नींद हो सकता है।

 

राष्ट्रीय स्वास्थ्य संस्थानों के मुताबिक, हमारे नींद चक्र में पांच चरण हैं - तीव्र नेत्र संचलन (Rapid Eye Movement, REM: 25% नींद), इनमे से एक है जिसमें हम ज्यादातर सपने देखते है। REM चरण आपकी नींद की 70 से 90 मिनट के बाद शुरू होता है। यह चरण रात भर दोहराता है क्योंकि आपका नींद चक्र दोहराता है।

 

जब आप सोते हैं, तो आपका दिमाग अधिक सक्रिय होता है और नवीनतम क्षणों और भावनाओं को याद करता है। सपने नई जानकारी को प्रभावशाली और इसकी प्रसंस्करण को रखने में मदद करते हैं।

 

यदि नींद चक्र बाधित है और आप REM चरण में जाग रहे हैं तो आप स्पष्ट रूप से सपने को याद कर सकते हैं। गर्भावस्था के दौरान महिलाएं अलग-अलग स्तरों पर असंतुलित नींद पाती हैं।

 

पहली तिमाही में अनिद्रा सामान्य है और इसका कारण प्रोजेस्टेरोन के स्तर है। गर्भावस्था के 12-16 सप्ताह तक ये स्तर कम हो जाते हैं। तीसरे तिमाही में, 28 सप्ताह बाद, गर्भवती महिला को अधिक असुविधा महसूस होती है और इसलिए नींद और भी मुश्किल हो जाती है। अंतिम तिमाही में नींद की अवसाद की कमी, नींद एपनिया (नींद में सांस की तकलीफ) और रातोंरात पेशाब अक्सर आपको बहुत मुश्किल में डाल देता है। अक्सर नींद में व्यवधान नींद चक्र के REM चरण के दौरान जागने की संभावना को बढ़ाता है, जिससे सपने अधिक तत्काल, गहन और यादगार लगते हैं।

 

यदि आप गर्भवती हैं तो आपके सपने जटिल होंगे


नवंबर 2016 में BMC Pregnancy and Childbirth में प्रकाशित एक अध्ययन में कहा गया है कि गर्भवती महिलाओं ने बार-बार दुःस्वप्न की सूचना दी है, उनमें से कई सपने प्रसव और नवजात शिशुओं का खतरे से सम्भदित है। शोधकर्ताओं ने 17 से 44 वर्ष की उम्र के बीच के 406 गर्भवती महिलाओं को सर्वेक्षण किया है और बताया कि गर्भवती महिलाओं को गर्भवती न होनेवाले महिलाओं की तुलना में अधिक दुःस्वप्न का अनुभव हुआ है। उन्होंने यह भी कहा कि ज्यादातर सपने उनके बच्चे के बारे में थे।

 

अधिकांश सपने दिनचर्या या रोज़मर्रा की ज़िंदगी से सम्भंदित है लेकिन एक अधिक अजीब तरीके से होते है।

Last modified on Monday, 15 October 2018 13:29
Venkatesh Rathod

Venkat handles content management for MedHealthTV.

Leave a comment

Make sure you enter all the required information, indicated by an asterisk (*). HTML code is not allowed.

Ticket

Support info@medhealthtv.com

Contact Us Form

Contact Us
security image
Live Chat

Live ChatInstant Reply